स्ट्रेस (Stress) क्या है? स्ट्रेस क्यों होता है? इसके कारण और उपाय क्या होते हैं

 स्ट्रेस (Stress) क्या है? स्ट्रेस क्यों होता है? इसके कारण और उपाय क्या होते हैंA

  स्ट्रेस एक बड़ी समस्या है जाने आज के युग मैं हम अपने आपको समय नहीं दे पा रहे हैं हर व्यक्ति अपनी जीवन को सवारने और उसे आसान बनाने मैं लगा हुआ है
  
    स्ट्रेस हमारे जीवन में धीरे धीरे प्रवेश करता है जब  हम दिन भर तरह तरह के झंझटो परेशानियों से झुझते रहते हैं और इनका निपटारा हो या हो हमें रिलेक्स यानि सुकून कभी नहीं मिलता है एक के बाद एक परेशानी टेंशन हमारे सामने ही जाती है हम एक परेशानी से निपटते नही कि दूसरी सामने जाती है ऐसी भागदौड़ और परेशनी से भरी ज़िन्दगी मैं तनाव होना स्वाभाविक और आजकल ये बीमारी की तरह फ़ैल रहा है
 
(स्ट्रेस) तनाव अधिक उम्र की अपेक्षा कम उम्र के बच्चों मै भी अधिक देखने को मिल रहा है यदि सही समय पर इसका उपाय नहीं निकाला गया तो यह हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए घातक हो जो की प्रत्येक बालक के भविष्य के लिये खतरा हैA

 स्ट्रेस-क्या-है
Health-Images





कम उम्र के बालको मैं तनाव एक बड़ी वजह बन रहा है एवं  धीरे धीरे यह विकराल रूप ले रहा है और देश के भविष्य के लिए यह चिंता का विषय है हम देखते हैं कि अधिकतर बच्चे जो कि 12 साल से लेकर सिर्फ 28 साल की उम्र के बीच के हैं वह अचानक ही किसी तनाव का शिकार हो जाते हैं और यदि परिवार के लोग उन्हें सही समय पर ध्यान दें तो यह समस्या विकराल रूप ले लेती है बच्चे धीरे धीरे पूरी तरह से तनाव मैं चले जाते हैं वह धीरे धीरे इस अंधकार मैं खो जाते हैं कुछ साइड इफेक्ट्स से इसका पता लगाया जा सकता है जैसे बच्चों का सही तरह से या समय पर खाना खाना किसी से बातचीत करना कुछ सवाल पूछने पर सही जवाब देना अकेले बिस्तर पर घंटों तक लेटे रहना अलग अलग रहना और मुख्य काऱण है नींद आना इन सभी कारणों से सर दर्द हाथ पैर दर्द की बीमारी बच्चो मैं अक्सर लगी रहती है और यदि सही समय पर इस पर ध्यान दिया जांय तो यह बड़ी बीमारी का रूप ले लेती है फिर इससे निपटना बहुत मुश्किल होता हैA



स्ट्रेस किन कारणों से होता है


आज के समय मैं तनाव एक बड़ी समस्या दिन प्रतिदिन इसके रोगी बढ़ते ही जा रहे हैं, इसके रोगी बढ़ते ही जा रहे हैं यह कई कारणों से हो सकती आज के समय में इसके आम कारण यह भी हो सकते हैं
  • नींद आना 
  • जीवन में हुई किसी बड़ी घटना का गहरा सदमा लगना       
  • सिरदर्द की समस्या 
  • जीवन साथी से लड़ाई झगडे होते रहना 
  • ऑफिस और काम का अत्यधिक बोझ के काऱण 
  • ऐसी चीज़ो के बारे में सोचना जो हमें नुकसान पहुंचना चाहती हों 
  • ऐसा लगना जैसे कोई संकट या परेशानी आने वाली हो 
  • हर चीज़ या हर किसी व्यक्ति पर शक करना 
  • हमेशा Negative रहना या Negative सोचना  
निम्न समस्याएं आज के समय हर व्यक्ति में कही कही मिल ही जाती हैं अतः ऐसी समस्याओ से आसानी से छुटकारा पाना आसान नहीं होता जिसमे नींद आना एक बड़ी समस्या है यह समस्या सभी उम्र के लोगो में आसानी से देखी जा सकती है और यह एक गंभीर समस्या है इसका इलाज आसानी से संभव नहीं है हम यदि विशेष रूप से सही ध्यान दे तो इस समस्या से बच सकते हैंA


इस तरह के तनाव  से छुटकारा पाना आसान नहीं यह तो हम सब जानते ही हैं तनाव से जो व्यक्ति परेशान रहता है उसे नींद बहुत काम आती है और यह अनिद्रा की बीमारी से निपटने के लिए  वह नींद की गोलियों का प्रयोग करते हैं दोस्तों नींद की गोलियां खाने से नींद तो जाती है पर जब एक गोली से कुछ नहीं होता तब हम इसका डोज़ बड़ा देते हैं और धीरे धीरे हम ज़्यादा डोज़ लेने लगते हैं पेहली बात तो यह है की हमें नींद की गोली का सेवन बिना किसी डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए और बेहतर होगा की हम इसके लिए Psychologist के पास ही जाएँ जिससे हमें हमारी बीमारी का सही पता  चल सके और सही समय पर इलाज हो सकेA
   दोस्तो नींद की बीमारी का इलाज सिर्फ नींद की Tablet या गोलियाँ खाना नहीं है जब तक हमारा शरीर पूरी तरह से रिलैक्स Relax महसूस करे तब तक इसका पूर्ण रूप से इलाज संभव नहीं है इसके लिए हमें डॉक्टर की सलाह लेना ज़रूरी है जिससे की हमें उपयुक्त इलाज समय पर मिल सके बहुत से लोग इस गंभीर बीमारी को Serious नहीं लेते हैं जिसका खामियाजा हमें बाद में भुगतना पड़ता है दोस्तों आपको पता है ज़्यादा नींद Tablet या गोलियाँ खाने से हमारे शरीर के मुख्य अंग इससे प्रभावित होते हैं इसका सीधा असर हमारे गुर्दों Kidney पर पड़ता है यह जो नींद की गोलियों हैं सिर्फ कुछ कम समय के लिए इनका सेवन करना चाहिए सिर्फ महीने में एक या दो बार या इससे भी कम दोस्तों तनाव Stress और नींद आने की समस्या के उपाय निम्नलिखित हैंA



Psychologist की सलाह लें 

   दोस्तों अगर आप ऐसी समस्या से परेशान हैं तो सबसे पहले समस्या सम्बन्धी डॉक्टर से मिलना बेहतर होगा दोस्तों डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी कदम उठाना ठीक नहीं होगा इस सम्बन्ध में डॉक्टर की सलाह से उसके दिशा निर्देश में ही काम करेंA

 व्यायाम योगा Exercise  करें

   योगा हमें अपने दैनिक जीवन में करना ही चाहिए और इसके लिए हमें योग टीचर से मिलना चाहिए या इतना समय नहीं निकल पा रहें हैं तो प्रातःकाल के समय Exercise ज़रूर करें जिससे हमारा स्वास्थ Health ठीक रहेगाA

अपने आप को व्यस्थ रखें 

     दोस्तों यदि कोई व्यक्ति ऐसा व्यतीत करता है की उसका कही मन नहीं लग रहा चिचिड़ापन होना और काम में मन लग्न यह सब तनाव Stress के मुख्या कारन हैं इन सब से बचने के लिए हमें अपने आप को व्यस्त रखने की ज़्यादा ज़रूरत है ऐसी परिस्तिथि में लोगो से मिलना बातें करना ज़रूरी होता है और जो भी परेशानी होती हे उसे हमें हमारे मित्र या करीबी से शेयर करना ज़रूरी है जिससे हम कोई गलत फैस्ला लेने से बचें और हमारा सही समय पर सही इलाज हो सकेA

1 comment:

  1. https://hindivila.blogspot.com/2020/03/coronavirus.html

    ReplyDelete

Powered by Blogger.